आखिर क्यों दिए थे हनुमान जी ने भीम को अपने शरीर के तीन बाल, एक अनसुनी कथा !

hanuman bheem story

Bheem :- hanuman bheem story-महाभारत युद्ध समाप्त हो चुका था तथा इस युद्ध में पांडवो ने कौरवों पर विजयी प्राप्त कर ली थी. ( bheem ) पांडव हस्तिनापुर में खुसी-खुसी अपने दिन काट रहे थे तथा प्रजा को भी राजा युधिस्ठर के रहते किसी चीज की कमी नहीं थी. एक दिन देवऋषि नारद मुनि महाराज युधिस्ठर […]

जब महावीर हनुमान बने बंधक राम भक्त के हाथो एक लीला को सम्पन्न करने के लिए, जाने हनुमान जी की एक रोचक कथा !

hanuman chalisa, hanuman stories, hanuman stories in hindi, lord hanuman, hanuman ji, how to worship lord hanuman, how to pray hanuman ji, god hanuman, jai hanuman, shri hanuman chalisa, sankat mochan hanuman ashtak

hanuman story :-  एक बार श्री राम ने अयोध्या में अश्व्मेध यज्ञ करवाया तथा इस यज्ञ में हनुमान ( hanuman ) भी सम्लित थे, इस यज्ञ को सम्पन्न करने के लिए उन्होंने इस यज्ञ का एक घोडा झोड़ा जो अलग-अलग राज्यों में घूमता हुआ कुंडलपुर पहुंचा. वहां अत्यन्त धर्मात्मा राजा सुरथ का राज्य था . […]

जाने अतुलित बल के स्वामी होने के बावजूद, हनुमान जी ने स्वयं ही क्यों नहीं मुक्त किया माता सीता को रावण के कैद से !

hanuman, god hanuman, hanuman ji, hanuman jayanti, hanuman stories, lord anjaneya, hanuman birth place, hanuman hindu god, monkey god, lord hanuman stories, lord hanuman names, hanuman chalisa, god hanuman

पवनपुत्र हनुमानजी भगवान शिव के ग्यारहवें अवतार के रूप में सर्वत्र पूजनीय हैं. वे बल और बुद्धि के देवता हैं. कई हनुमान मंदिरों में उनकी मूर्ति को पर्वत उठाए तथा राक्षस का मान मर्दन करते हुए दिखाया जाता है, लेकिन प्रभु श्रीराम के मंदिरों में वे राम के चरणों में मस्तक झुकाए बैठे हैं. भगवान […]

बजरंग बलि की रोचक कथा, जाने श्री कृष्ण संग रची लीला से कैसे तोडा सुदर्शन चक्र, पक्षी राज गरुड़ और स्तयभामा का अभिमान !

hanuman stories, hanuman stories in hindi, hanuman mantra, hanuman mantra for success, hanuman chalisa, shri hanuman chalisa, lord hanuman, bajrang bali, hanuman jayanti, hanuman god, hindu monkey god

एक बार भगवान श्री कृष्ण के साथ हमेशा रहने वाले उनके अस्त्र सुदर्शन चक्र, वाहन पक्षी राज गरुड़ और पत्नी सत्यभामा को अभिमान हो गया. सुदर्शन चक्र को अभिमान था अपने सर्व शक्तिमान होने का , पक्षीराज गरुड़ को अपने तेज गति का अभिमान था तथा सत्यभामा को अपने सर्वश्रेष्ठ सुंदरी होने का अभिमान था. […]