Devshyani Ekadashi देवशयनी एकादशी व्रत नही किया तो आपकी जिन्दगी में होगा

Devshayani Ekadashi 2018 एक बार की बात है एक टाइम था “काल” कलयुग चल रहा था. तब नारद जी ने ब्रह्माजी से पूछा की इस धरती पर इतने पाप हो रहे है इसे कैसे रोका जा सकता है. तब ब्रह्माजी ने नारद जी को कहा हे नारद, तुमने कलियुगी जीवों के उद्धार के लिए बहुत […]

क्या आप जानते है विष्णु ने किया एक ठाकुर को भयंकर पाप से मुक्त

janiye कामिका एकादशी व्रत विष्णु ने किया एक ठाकुर को भयंकर पाप से मुक्त”> कामिका एकादशी व्रत| Kamika Ekadashi 2018 आ रही है 8 अगस्त को कामिका एकादशी जो इस बार बहुत खास है. आइये जानते है क्या होती है यह कामिका एकादशी? कामिका एकादशी श्रावण माह के कृष्ण पक्ष को मनाई जाती है. विष्णु […]

योगिनी एकादशी व्रत 2018| Yogini Ekadashi History, Pooja vidhi, Importance

योगिनी एकादशी|Yogini Ekadashi 2018 योगिनी एकादशी आषाढ मास के कृष्ण पक्ष की एकादशी के दिन योगिनी एकादशी व्रत का किया जाता है. 2017 में यह योगिनी एकादशी व्रत Tuesday, 20th of June को आया था और इस वर्ष यह व्रत 9 जुलाई 2018 को मनाया जाएगा.  इस बड़े शुभ दिन पर विष्णु भगवान जी की […]

Dakshinavarti shankh से दूर होती है बीमारिया क्या है इसके और फायदे जानिए !!

Dakshinavarti shankh in hindi – दक्षिणावर्ती शंख Dakshinavarti shankh :- शंख को हिंदी धर्म में बहुत मानयता दि गई है| जब भी को पूजा या सुभ काम सुरु होता है तो उस की जगतिरी के लिए शंख का प्रयाग किया जाता है| शंक से निकने वाली धवनी अंतरात्मा तक जा कर नकारात्मक सोच को निकल देता […]

2018 मोहिनी एकादशी व्रत जानिए कैसे करे मिलेगा फल होगी हर इच्छा पूरी

2018 मोहिनी एकादशी ( Mohini Ekadashi 2018 ) 2018 मोहिनी एकादशी mohini ekadashi 2018 हर साल वैशाख मास की एकादशी तिथि को मनाया जाता है| इस दिन भगवान विष्णु की पूजा की जाती है|  वैसे तो यह हर साल आती है और हिन्दू धर्म के अनुसार भगवान विष्णु की पूजा भी की जाती है| लेकिन आज […]

कैसे प्राप्त हुआ भगवान विष्णु को सुदर्शन चक्र ?

sudarshan chakra story

भगवन विष्णु का राज जानिए कैसे प्राप्त हुआ भगवान विष्णु को सुदर्शन चक्र”> sudarshan chakra story : क्या आप जानते है की कैसे प्राप्त हुआ था भगवान विष्णु को सुदर्शन चक्र, इसका निर्माण भगवान विष्णु ने नही बल्कि शिव जी ने किया था | इसके बाद उन्होंने भगवान विष्णु को इसे सौप दिया | पौराणिक […]

क्यों विवाह ना होने के कारण नारद मुनि ने भगवन विष्णु को दिया श्राप ?

narad muni vivah story : एक बार नारद मुनि एक गुफा में तपस्या कर रहे थे | उनकी तपस्या को देख के देवराज इंद्रा चिंतित हो उठे और उन्होंने नारद मुनि की तपस्या भंग करने का मन बनाया | उन्होंने अग्निदेव , वायुदेव और कुछ देवताओ को तपस्या भांग करने के लिए भेजा लेकिन वो […]

क्यों किया शिव ने तांडव और विष्णु को उठाना पड़ा सुदर्शन चक्र – शिवपुराण रोचक कथा

shiv tandav

shiv tandav : ब्रम्हा जी पुत्र प्रजापति दक्ष की सुपुत्री सती से भगवन महादेव का विवाह हुआ और कुछ समय पश्चात प्रजापति दक्ष को पूरे ब्रम्हांड का अधिपति बना दिया गया इससे उसे अभिमान हो गया और वह खुद को श्रेस्ठ समझने लगा | एक यज्ञ में भगवन शिव के द्वारा दक्ष को प्रणाम न […]

कैसे किया भगवान विष्णु ने मछली रूप में नए सृष्टि के निर्माण में सहयोग !

matsya avatar story in hindi, matsya avatar in hindi, lord vishnu matsya avatar story

lord vishnu matsya avatar story : हिन्दू पुराणो के अनुसार चार युग बताये गए है सतयुग ,द्वापरयुग, त्रेतायुग और कलयुग और हर युग को ब्रह्मा का एक दिन माना गया है, हर एक युग के बाद ब्रह्मा जी सो जाते है | जिस दीन ब्रह्मा जी सो जाते है उस दिन संसार का सर्जन रुक […]

कामिका एकादशी (30 July) – जाने हिन्दू धर्म में क्या महत्व है और कैसे मिलेगा पापो से छुटकारा

Kamika Ekadashi – 30 July 2016 इस व्रत को करने से प्राणी को ब्रह्महत्या और भ्रूणहत्या जैसे पापों से छुटकारा मिलता है.समस्त दुखों का नास होता है पुत्र की प्राप्ती होती है एवम उसकी अन्य मनोकामना पूर्ण होती है इस व्रत को करने से महापुण्य का फल प्राप्त होता है व्रती को वैकुंठ में स्थान […]

जाने आखरी क्या है सत्यनारायण कथा का महत्व !

श्री सत्यनारायण-व्रत कथा देश के अनेक भागो में बहुत लोकप्रति है. सत्य ही नारायण है, यह भाव सत्यनारायण की कथा से उभरता है. सत्य को साक्षात भगवान मानकर जीवन में उसकी आराधना करना ही सत्य व्रत है. लोग सतयनारायण कथा के माध्यम से सत्य व्रत का सही रूप समझे, तो वे सच्चे अर्थो में सुख-समृद्धि […]

भागवान विष्णु के प्रिय भक्त शेषनाग से जुड़े आश्चर्य चकित करने वाले रहस्य, जिन्हे न आपने कभी सुना होगा न पढ़ा !

हमारे हिन्दू सनातन धर्म में भगवान विष्णु को पालनकर्ता कहा गया है, जगत के पालनकर्ता भगवान विष्णु के दो रूप कहे गए है एक तो उनका सहज एवं सरल स्वभाव है तथा अपने दूसरे रूप में भगवान विष्णु कालस्वरूप शेषनाग के ऊपर बैठे है. भगवान विष्णु का यह स्वरूप थोड़ा भयामह अवश्य है परन्तु भगवान […]

आमलकी एकादशी का महत्व और विधि !

शास्त्रो के अनुसार फाल्गुन माह को पड़ने वाली शुक्ल एकादशी का बहुत अत्यधिक महत्व है. यह एकादशी रंगभरनी एकादशी और आमलकी एकादशी के नाम से भी जानी जाती है.इस एकादशी के महत्वपूर्ण होने के तीन कारण है जिनमे पहला कारण यह है की इसी दिन महादेव शिव माता पार्वती से विवाह रचाने के पश्चात पहली […]

जानिए भगवान विष्णु के परम भक्त की कथा, नन्द से कैसे बने देवऋषि नारद !

प्रभास क्षेत्र में ऋषियों का एक आश्रम था जहा नन्द नामक एक दासी पुत्र उन ऋषियों की सेवा किया करते थे. आश्रम में निवास करने वाले समस्त ऋषि नन्द के सेवाभाव एवं निष्ठां से प्रसन्न थे तथा नन्द को अपने पुत्र के ही समान मानते थे. नन्द भी उनके लिए अपना सर्वस्व न्योछावर करने के […]

जानिए आखिर क्या था नारद जी के इस प्रश्न का उत्तर, ”समस्त संसार का महान आश्चर्य” ?

युधिस्ठर द्वारा आयोजित अश्वमेघ यज्ञ समाप्त होने के बाद भगवान श्री कृष्ण द्वारिका वापस लोट आये. श्री कृष्ण के स्वागत में द्वारिका नगरी इस प्रकार सजी थी की किसी भी राजा के बड़े से बड़ा महल भी फीका पड जाये. द्वारिका में भगवान कृष्ण के आगमन पर हर तरफ हर्ष की लहर फ़ैल गयी थी. […]

जब भगवान विष्णु को होना पड़ा शीशविहीन तथा प्राप्त हुआ अश्व का सर !

प्रचीन समय की बात है, भगवान विष्णु को दस हजार वर्षो तक निरंतर देत्यो के साथ युद्ध करना पड़ा. युद्ध की समाप्ति पर वे अपने निवास स्थान वैकुण्ठ धाम गए तथा पद्मासन लगाकर बैठ गए. उनके धनुष की डोरी चढ़ी हुई थी, युद्ध से थके होने कारण उन्हें शीघ्र ही उसी अवस्था में नींद आ […]