स्फटिक माला Sphatik malaअनसुना राज, जो बदल देगा आपकी किस्मत जानिए कैसे

Sphatik mala Benefits – स्फटिक माला फ़ायदे :-

Sphatik mala स्फटिक माला वैसे तो देखने में यह अन्य रत्नो की तरह ही होता है| और यह देखने में बिलकुल कांच जैसा होता है| यह रत्न बहुत ठंडी प्रवति का होता है और इसकी खूबी यह है की इसको जितनी भी धूप में रखा जाये फिर भी यह गरम नहीं होता ठंडा ही रहता है |यह शरीर में धारण किया जाता है इन  रत्नो से हार और कंगन भी फायदे देते है| इन  रत्न में  बहुत सी बीमारियों को ठीक करने की शक्ति होती है|

कई वैद इस से बहुत सारी बीमारियां ठीक करने के लिए इस्तेमाल करते है और यह काम अब भी किया जाता है | वेद शास्त्रों में इसके इस्तमाल के बहुत से फायदे बताये गए हैं | और बताया गया है की कैसे इस के इस्तमाल से बीमारियां भी ठीक होती है | माता लक्ष्मी की उपासना के लिए स्फटिक की माला शुभ मानी गई है। स्फटिक पंचमुखी ब्रह्मा का स्वरूप है। मां लक्ष्‍मी और संसार के रचयिता ब्रह्मा जी की कृपा पाने के लिए इस माला का प्रयोग लाभकारी माना जाता है।

2. Important point-Sphatik mala in hindi

वैसे तो mala कभी भी धारण कर सकते है लेकिन अगर आपको इस का फायदा उठाना है तो आपको स्फटिक माला को धारण करने से पहले माला को मंत्रो द्वारा प्राण करना पड़ेगा या फर मंतरित mala को ही धारण करे|  इसके बिना यह माला किसी काम की नहीं है | अगर आप भी चाहते है स्फटिक माला का इस्तेमाल करना या इस का फ़ायदा उठाना तो यह दो बातें जरूर याद रखें, की एक तो स्फटिक माला के मनके बिलकुल असली हो और दूसरा माला को मंत्रो द्वारा प्राण प्रतिष्ठित किया गया हो | ध्यान रहे इस मंत्र के साथ जाप करते हुए दिन में 3 बार पढना है|

 2.1 Mantra before using Sphatik mala-  Sphatik mala स्फटिक माला mantra

|| मंत्र : ||

” हे गौरी शंकरधंगी ! यथा तवं शंकरप्रिया,
तथा मां कुरु कल्याणी ! कान्तकान्तम् सुदुर्लभं”

 

3. Tips of Sphatik mala – what is the use of sphatik mala 

स्फटिक माला Sphatik Mala को प्राण प्रतिष्ठित करने का पूरा तरीका :  सबसे पहले पूर्णिमा वाले दिन सूर्यास्त के समय नहा कर सफ़ेद कपडे धारण कर लें , फिर उत्तर दिशा की तरफ मुंह कर के बैठ जाएं |  अब अपने सामने लाल रंग का कपडा बिछा लें , फिर स्फटिक माला को ताम्बे के पात्र में साफ़ पानी में डाल दें | उसको लाल कपडे के ऊपर रख दें |  फिर उसके सामने एक घी का दिया जला लें |अब नीचे दिए गए मन्त्र का 108 बार जाप करें | 11 वें दिन माला को दोनों आँखों पर लगाकर धारण कर लें |

” ऐं ह्रीं अक्षमालिकायै नमः।
ॐ मां माले महामाये सर्व शक्ति स्वरूपिणि।
चतुर्वर्गः त्वयि न्यस्तः तस्मान्मे सिद्धिदा भव।।”

4. Sphatik mala स्फटिक माला mantra se judhe upay:-

1) घर में सुख शांति के लिए व घर  में खुशीआं बढ़ाने के लिए स्फटिक माला का इस्तेमाल करे| और साथ ही माँ दुर्गा का यह मन्त्र रोज़ जाप करें | ऐसा करने से आपके घर में कभी मन मुटाव नहीं होगा और घर में शांति और बरकत बानी रहेगी | आपके सारे दुख दूर होगे|

Sphatik mala स्फटिक माला

   || मंत्र : ||

  “ॐ ह्रीं श्रीम लक्ष्मीभयो नमः॥ 

5. Sphatik mala स्फटिक माला Benifits – How to wear sphatik mala

स्फटिक माला (Sphatik mala ) के उपयोग :

  • जो भी इंसान स्फटिक के मनको की माला पहनता है वो शांत रहता है और उसको कभी भी गुस्सा नहीं आता
  • स्फटिक माला Sphatik mala को पहनने से इंसान सेहतमंद रहता है और बीमारियों से बचा रहता है
  • स्फटिक इंसान के शरीर का रक्त चाप ठीक रखता है |
  • यह माला इंसान से भूत प्रेत और नकारात्मक शक्तिओं को दूर रखती है |
  • 108 मनको वाली स्फटिक माला का इस्तेमाल करके नीचे दिया गया सरस्वती मन्त्र का सात सोमवार लगातार जाप करने से हर कार्य में सफलता मिलती है |
  • स्फटिक माला पर सरस्वती मंत्र का जप करने से सिद्धि शीघ्र प्राप्त होती है तथा माँ सरस्वती की कृपा से विद्या-बुद्धि बढ़ती है।
  • स्फटिक माला Sphatik mala शान्ति कर्म और ज्ञान प्राप्ति के लिए पहननी चाहिए।
  • माँ सरस्वती व भैरवी की आराधना के लिए स्फटिक माला श्रेष्ठ होती है।
  • मन इधर-उधर भटकने की स्थिति में, तथा सुख-शांति के लिए स्फटिक माला पहननी चाहिए
  • शुक्रवार को स्फटिक माला Sphatik mala धारण करने से धन एवम ऐश्वर्य बढ़ता है|
  • शनिवार को स्फटिक माला Sphatik mala धारण करने से रक्त से संबंधित बीमारियों से लाभ होता है|

Sphatik mala स्फटिक माला

6. Sphatik mala ki pahchan – Sphatik mala स्फटिक माला

6.1 सही स्फटिक माला की जाँच कैसे करें / How to check original Sphatik Mala:-

Original Sphatik Mala की पहचान यह है की ये और सभी मालाओं से अधिक चमक ता है| अगर इसके मोती में चमक ना हो समझ लीजिए की ये कोई और माला है। इसके अलावे Sphatik Mala को जाच ने के लिए अच्छा tarika यह है की इसे अँधेरे में आपस में रगड़ने से चमक उत्पनन होगी | अगर यह आपस में रगड़ने से चमकता है तो इसका मतलब की आपके पास ओरिजिनल  है |

Sphatik mala स्फटिक माला

6.2 स्फटिक माला के फायदे / Benefits of Sphatik Mala:-

    6.2.1 can ladies wear sphatik mala

यह mala कोई भी धारण कर सकता है चाहे वो लड़का हो या औरत| Monday के दिन Sphatik mala धारण करने से इंसान के मन में शान्ती बना रहता हैं और सिर दर्द भी नहीं होता। स्फटिक माला या फिर इसका रत्न को भी अपनी तिजोरी में रखने से Business में benefits मिलता हैं। अगर बच्चो का पढ़ाई-लिखाई में मन नहीं लगता हो और वे अपना दिमाग पढ़ाई में मन ना कर पा रहें हो तो उनके पढने वाली टेबल में Sphatik mala रख दे  इससे उत्तम नतीजे दिखने लगेंगे ।

  • इसमें नकारात्मकता को कम करने के लिए संपत्ति है, इसलिए एक क्रिस्टल माला को आध्यात्मिक, मानसिक और भौतिक पहलुओं के संदर्भ में एक सफाईकर्ता के रूप में उपयोग किया जा सकता है।
  • जब बुराई ऊर्जा से सुरक्षा की बात आती है तो स्फटिक रोज़री बहुत गतिशील होती है। स्पैटिक शरीर से अतिरिक्त गर्मी निकालता है और बुखार भी कम कर सकता है।
  • स्फटिक माला Sphatik Mala ध्यान में ध्यान केंद्रित करने में ध्यान केंद्रित करने में मदद करता है।
  • यह सिरदर्द से राहत पाने में मदद करता है और शरीर के समग्र उपचार को बढ़ावा देने से तनाव और तनाव को कम करता है।
  • यह ध्वनि और निर्विवाद नींद पाने में भी मदद करता है, किसी को क्रिस्टल माला पहनना चाहिए।

Sphatik mala स्फटिक माला