Kamal Gatta Mala- अनगिनत फायदे | माँ लक्ष्मी का प्रिय यन्त्र

kamal Gatta mala benefits – कमल गट्टा माला के फायदे

kamal gatta mala माँ लक्ष्मी को प्रिय है, जिस घर में होता है kamal gatta mala का इस्तमाल वहा लक्ष्मी निवास जरुर करती है | धन प्राप्ति के लिए कमल गट्टा बहुत ही उपयोगी मानी जाती है| कमल में देवी कमला का वास होता है। देवी कमला को कमल का हर एक अंग प्रिय है | माँ लक्ष्मी को प्रशन करना चाहता है वो आज ही घर में ले आए kamal gatta mala | घर में होगी दान की बारिश | मंत्र जाप के लिए इसकी माला भी बनती है। जो लोग ध्यान मगन हो कर पूजा पाठ नही कर सकते वो kamal gatta mala के साथ पूजा पाठ कर सकते है इस से उन्हें दुगना फायदा मिलेगा|

Kamal gatta mala

 1.1 According to astrologers and jyotish :-

शास्त्रों में ग्रंथो में माँ लक्ष्मी को बहुत अत्यधिक महत्व दिया गया है। वेद और पुराण इनकी गाथा गाते नहीं थकते| kamal gatta mala अगर कोई भी इन्शान धारण करता है तो उसे कभी कोई परेशानी नही आती|  माँ लक्ष्मी की कृपा सदा उस पर बनी रहेती है | इन्हीं के कारण भगवान विष्णु अति वैभवशील हैं। लक्ष्मी के विभिन्न स्वरूपों में से महालक्ष्मी का पदमा स्वरूप सर्वाधिक महत्वपूर्ण है। पदमा ही धन की मूल देवी हैं। जिनका निवास पदमो वन में होता है। शब्द पदमा पदम से बना है जिसका अर्थ होता है कमल इसी कारण देवी लक्ष्मी को महाविद्या कमला बुलाया गया है।
kamal gatta mala

1.2  कमल के बीजों की माला – kamal gatta mala in hindi

कमल के बीजों की माला का बहुत महत्व है। कमल पुष्प के बीजों की माला को कमल गट्टे की माला कहा जाता है। इस माला को धारण करने वाला शत्रु दूर  रहेते है और उन के किये हुए टोटको का भी असर नही होता|  मां काली की उपासना के लिए काली हल्दी अथवा नीलकमल की माला का प्रयोग करना चाहिए। माता लक्ष्मी की उपासना के लिए कमल गट्टे की माला शुभ मानी गई है। लक्ष्मीजी के लिए मंत्रोच्चार द्वारा किये जाने वाले हवन में कमलगट्टे के बीजों से आहुति दी जाती है कमल गट्टा कमल के पौधे में से निकलते हैं व काले रंग के होते हैं।
kamal gatta mala

 2. कमल गट्टे के ज्योतिषीय उपाय – By astrologers , jyotish

kamal gatta mala की 7 दिन तक पूजा करे इससे मां लक्ष्मी प्रसन्न होता है और धन संबंधी समस्याएं समाप्त हो जाती है।और अगर आप kamal gatta mala  दुकान में रखते है तो उसके ऊपर भगवती लक्ष्मी का चित्र स्थापित किया जाए तो व्यापार अच्छा चलता है। कमल गट्टे की माला मां लक्ष्मी के चित्र पर पहना कर पूजा करने से हमेशा सुख-शांति व समृद्धि बनी रहती है। हर बुधवार जब भी समय मिले 111 कमल गट्टे के बीज की आहुती देने वाले के घर से दरिद्रता हमेशा के लिए चली जाती है। जो व्यक्ति कमल गट्टेे की माला अपने गले में धारण करता है उस पर माता लक्ष्मी की कृपा सदा बनी रहती है। घी में कमल गट्टे मिलाकर लक्ष्मी का भोग करने से व्यक्ति राजा जैसा जीवन जीता है। संपूर्ण धन लाभ मिलता है।

Kamal gatta mala

3. kamal gatta mala – how to get kamal gatta mala

वैसे तो यह बाजार में आसानी से मिल जाते हैं। मंत्र जप के लिए इसकी माला भी बनती है।मंत्र जप में जप माला देव शक्ति स्वरूप व जाग्रत मानी जाती है। लक्ष्मी जी के मंत्रों एवं धनदायक मंत्रों के जप kamal gatte ki mala से करते हैं। इसको धारण करने से लक्ष्मी की विशेष कृपा प्राप्त होती है। अक्षय तृतीया, दीपावली, अक्षय नवमी के दिन इस माला से कनकधारा स्तोत्र का जप करने वाले को धनलाभ के अवसर मिलते रहते हैं।
Kamal gatta mala

3.2 पूजा विधि – pooja vidhi , pooja sadhan :-

देवी की चांदी या किसी भी धातु की बनी प्रतिमा को दूध, दही, घी, शकर और शहद से बने पंचामृत व पवित्र जल से स्नान कराने के बाद लाल चंदन, कुंकुम, लाल अक्षत, कमल गुलाब या गुड़हल का फूल चढ़ाकर घर में बनी दूध की खीर का भोग लगाएं।पूजा के बाद नीचे लिखे लक्ष्मी मंत्रों में किसी भी एक या दोनों का लाल आसन पर कमलगट्टे की माला से कम से कम 111 बार जप करें| |ॐ ह्रीं क्लीं श्रीं ||ॐ ह्रीं श्रीं सौं:||  श्रीं ह्रीं ॐ महालक्ष्म्यै नम:|| ॐ महालक्ष्म्यै नमः||  ऐश्वर्य की देवी महालक्ष्मी की पूजा न केवल धनवान व समृद्ध बनाती है, बल्कि यश, प्रतिष्ठा के साथ शांति, पवित्रता, शक्ति व बुद्धि भी देने वाली मानी गई है।शुक्रवार को देवी लक्ष्मी की सुबह और शाम दोनों ही वक्त स्नान के बाद यथासंभव लाल वस्त्र पहन लाल पूजा सामग्रियों से पूजा करें।

Kamal gatta mala

kamal gatte ki mala ka prayog – upay

रोज 108 कमल के बीजों से आहुति दें और ऐसा 7 दिन तक करें तो आने वाली कई पीढिय़ां सम्पन्न बनी रहती हैं |यदि दुकान में कमल गट्टे की माला बिछा कर उसके ऊपर लक्ष्मी का चित्र स्थापित किया जाए व्यापार निरंतर उन्नति की ओर अग्रसर होता है। कमल गट्टे की माला लक्ष्मी के चित्र पर पहना कर किसी नदी या तालाब में विसर्जित करें तो उसके घर में निरंतर लक्ष्मी का आगमन बना रहता है। जो व्यक्ति प्रत्येक बुधवार को 108 kamal gatte ki mala ke bize लेकर घी के साथ एक-एक करके अग्नि में 108 आहुतियां देता है।

kamal gatta mala

उसके घर से दरिद्रता हमेशा के लिए चली जाती है। व्यक्ति पूजा-पाठ के दौरान की माला अपने गले में धारण करता है। उस पर लक्ष्मी की कृपा सदा बनी रहती है। शुक्रवार, दीपावली, नवरात्रि या किसी देवी उपासना होती है । इस विशेष दिन कमलगट्टे की माला पूजा होती है। अलग-अलग रूपों में लक्ष्मी मंत्र जप देवी लक्ष्मी की कृपा से धन, ऐश्वर्य व यश पाने, कामनासिद्धि व मंत्र सिद्धि का अचूक उपाय माना गया है।

अभी आर्डर करे : महादेवी लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए, करे कमल गट्टे की माला से महालक्ष्मी का जप