Gomati chakra से जुड़े अनसुने रहस्य जो आपको माला माल कर देगे..!!

Gomati chakra in hindi- गोमती चक्र

1.About Gomati chakar – Gomati chakar importance

Gomati chakra – सबसे पहले ये यह जानना जरुरी है कि गोमती चक्र क्या है?? ये गोमती चक्र कम कीमत वाला एक ऐसा पत्थर है| जो गोमती नदी मे पाया जाता है| विभिन्न कार्यो तथा असाध्य रोगों में इसका प्रयोग होता है| असाध्य रोगों को दुर करने तथा मानसिक शान्ति प्राप्त करने के लिये बहुत ही लाभ दायक माना जाता है| यह माँ लक्ष्मी को बहुत प्रिय है| जीवन में हमें अनेक परेशानियों का सामना करना पड़ता है| उन परेशानियों को दूर करने के लिए बहुत ही लाभ दायक माना जाता है यह गोमती चक्र| कुछ परेशानियां स्वयं ही समाप्त हो जाती हैं जबकि कुछ समस्याओं के निदान के लिए विशेष प्रयास करने पड़ते हैं| गोमती चक्र के माध्यम से जीवन की कई समस्याओं का निदान किया जा सकता है|

2. Gomati chakar story /history – गोमती चक्र :-

Gomati chakra- एक ऐसा पत्थर है जिसका उपयोग बीमारियों अथवा पूजन के लिए किया जाता है| यह बहुत ही साधारण सा दिखने वाला पत्थर है| लेकिन यह बहुत  प्रभावशाली माना जाता है , यदि नजर जल्दी लगती हो तो पाँच गोमती चक्र लेकर किसी सुनसान स्थान पर रख आए | या  तीन चक्रों को अपने ऊपर से सात बार उसारकर अपने पीछे फेंक दें तथा पीछे देखे बिना वापस आ जायें| इस से नज़र हमेशा के लिए हट जाती है|

 3. प्रयोग/ इस्तमाल करने की विधि – Gomati chakra in hindi

बिना डॉक्टर या दवाई के आपको पेट सम्बंदित समस्या का समाधान | गोमती चक्र द्वारा लगभग 10 गोमती चक्र Gomati chakra लेकर रात को पानी में डाल दे और सुबह उस पानी को पी जाना चाहिऐ इससे पेट संबंध के विभिन्न रोग दुर होते है|और  अगर यदि बढ़ गए हों तो जितने अक्षर का शत्रु का नाम है उतने गोमती चक्र लेेकर उस पर शत्रु का नाम लिखकर उन्हें जमीन में गाड़ दें तो शत्रु परास्त हो जाएंगे| इस से उन्हें से होने वाली समस्या वही ख़त्म हो जाती है |
Gomati chakra

 4.More important points about Gomati chakar :-

यदि आपका स्वास्थ्य अधिक खराब रहता हो अथवा जल्दी-जल्दी अस्वस्थ होता हो, तो चतुर्दशी को 11 अभिमंत्रित गोमती चक्रों Gomati chakra को लाल रेशमी वस्त्र पर रखकर चन्दन से तिलक करें फिर भगवान् मृत्युंजय से अपने स्वास्थ्य रक्षा का निवेदन करें और यथा शक्ति महामृत्युंजय मंत्र का जप करें| इस से आपका स्वास्थ्य बिलकुल ठीक हो जाएगा| गोमती चक्र न केवल बिमारिय दूर करता है बल्कि आपको लगने वाली नज़र से भी मुक्त करता है| और इसे घर में रखने से घर में चल रहे कलेश भी दूर होते है और घर में माँ लक्ष्मी निवास करती है|

5. Gomati chakar -गोमती चक्र को अभिमंत्रित कैसे करे/तांत्रिक प्रयोग:-

गोमती चक्र Gomati chakra अभिमंत्रित कैसे करे/ गोमती चक्र के टोटके/उपाय/फायदे – शंख, सीप, कौड़ी की तरह गोमती चक्र Gomati chakra भी समुद्र से निकलता है। दक्षिण भारत में इसे गोमथी चक्र तथा संस्कृत में धेनुपदी कहा जाता है। पौराणिक काल में यह यज्ञवेदी के चारो ओर लगाया जाता था। राज तिलक के समय इसे सिंहासन के ऊपर छत्र में लगाया जाता था। गोमती चक्र Gomati chakra की बनावट अनूठी होती है। गौर से देखने पर इसमें हिन्दी का सात अंक लिखा दिखाई देता है जो राहु का अंक है। जल में पाये जाने के कारण यह चंद्र गुणों से परिपूर्ण है तथा उसके ऊपर सात लिखा होने के कारण राहु संबंधी समस्या दूर करता है। कुंडली में राहु-चंद्र की युति हो तो यह चमत्कारी प्रभाव डालता है। इसके चमत्कारी गुणों से प्राचीन भारत के आम लोग भी परिचित थे।
Gomati chakra

6. गोमती चक्र Gomati chakra अभिमंत्रित कैसे करें???  और  Mantra -मंत्र

कोई भी शुभ महूरत चुन ले फर  पुष्य योग, सर्व सिद्धि, अमृत योग जैसे मुहूर्त में गोमती चक्र अभिमंत्रित करना श्रेयस्कर माना जाता है। 07 अथवा 11 की संख्या में गोमती चक्र लेकर अपने पूजा स्थल पर स्थापित करें। विधिवत पूजा करें तथा निम्नलिखित मंत्र का 21 माला जप करें| ||ओम् श्रीं नमः|| इस जाप के बाद गोमती चक्र अभिमंत्रित हो जाता है तथा पारिवार को आर्थिक सम्पन्नता प्रदान करता है। पूजा के बाद इसे धन रखने वाले स्थान पर रख दें तथा नित्य धूप-दीप दिखांए। विशेषज्ञों का मानना है कि अलग अलग अभीष्ट के लिए इसे अभिमंत्रित करने की विधि भी अलग होती है| उदाहरण के लिए ऊपर वर्णित से लक्ष्मी प्राप्ति में सहायता मिलती है| यदि बीमारियों की वजह से परेशान हो तो नीचे लिखी विधि अपनाएं|
Gomati chakra

7. गोमती चक्र के टोटके/उपाय/फायदे-Gomati chakra totke:-

किसी भी महीने के पहले सोमवार को 21 गोमती चक्र लाल  रेशमी कपड़े में बांधकर मंदिर में स्थान पर रखें। हल्दी से उस पर तिलक करें। देवी लक्ष्मी से अपने घर में वास करने हेतु याचना करते हुए कपड़े में बंधे गोमती चक्र लेकर पूरे घर में घूमें तथा बाहर निकलकर किसी मंदिर में रख दें। यदि पैसा हाथ में नहीं ठहरता हो तो शुक्रवार को 21 की संख्या में गोमती चक्र लेकर लाल कपड़े में बांध कर पूजा स्थल पर रखें तथा पूजा करें।अगली सुबह उसमें से चार गोमती चक्रलेकर घर के चारो कोनो पर गाड़ दें, श्रीं श्रियै नमः मंत्र जाप करें। इससे कारोबार में वृद्धि होती है। सात गोमती चक्र चांदी के डिब्बी में सिंदूर और अक्षत के साथ रखने पर घर में धन की कमी नहीं होती।
Gomati chakra