शनि देव बदलेंगे अपनी चाल, 26 से बदल जाएगी सबकी किसमत

न्याय के देवता शनि देव नए साल में अपनी चाल को बदलेंगे। शनि देव 26 जनवरी की ठीक शाम 7 बजकर 29 बजे शनि ढाई साल के लिए अपना घर बदलकर वृश्चिक राशि छोड़ धनु राशि में विराजमान हो जाएंगे।

घर बदलते ही कुछ राशियां शनि की साढ़े साती और ढैया से मुक्त होंगी तो कुछ इनकी चपेट में आएंगी। ऐसा होते ही कुछ लोग चिंता से मुक्त हो जाएंगे तो किसी की चिंता बढ़ जाएगी। ग्रहों के दंडाधिकारी के रूप में मान्य शनि ग्रह एक राशि में ढाई साल रहते हैं।

ज्योतिषाचार्य ने बताया कि 26 जनवरी 2017 को वृश्चिक राशि को छोड़कर धनु राशि में प्रवेश कर वे ढाई साल इसी राशि में रहेंगे।

शनि के धनु राशि में प्रवेश करते ही तुला राशि को शनि की साढ़े साती से मुक्ति मिलेगी। मेष और सिंह राशि शनि की ढैया से मुक्त होगी। मकर राशि पर शनि की साढ़े साती शुरू हो जाएगी। वृष एवं कन्या राशि वालों पर ढैया का आरंभ हो जाएगा।

ये उपाय हो सकते है कारगर:

शनि के धनु राशि में प्रवेश के साथ ही वृश्चिक, धनु और मकर राशि पर शनि की साढ़े साती का प्रभाव रहेगा। शनि अशुभ होने पर लोग कई उपाय कर सकते हैं। जिनकी कुंडली में शनि ग्रह अशुभ है वे सुंदरकांड का पाठ करें। ऐसे लोग हनुमान उपासनाए पीपल वृक्ष की परिक्रमा भी नियमित करें और मंदिर, पीपल के नीचे दीपक रखें। शनि से संबंधित वस्तुओं का दान भी शुभ रहेगा। चींटी एवं गाय कोे भोेजन भी कराएं। शनि की साढ़े साती का प्रभाव सभी राशियों पर एक सा नहीं रहता है।

अगले पेज पर पढ़े…