जानिए क्यों चढ़ाते है शनिदेव को तेल !

Why Do We Offer Oil To Shanidev

Why Do We Offer Oil To Shanidev
Panditbooking वेबसाइट पर आने के लिए हम आपका आभार प्रकट करते है. हमारा उद्देस्य जन जन तक तकनीकी के माध्यम से हिन्दू धर्म का प्रचार व् प्रसार करना है तथा नयी पीढ़ी को अपनी संस्कृति और धार्मिक ग्रंथो के माध्यम से अवगत करना है . Panditbooking से जुड़ने के लिए नीचे दिए गए लिंक से हमारी मोबाइल ऐप डाउनलोड करे जो दैनिक जीवन के लिए बहुत उपयोगी है. इसमें आप बिना इंटरनेट के आरती, चालीसा, मंत्र, पंचांग और वेद- पुराण की कथाएं पढ़ सकते है.

इस लिंक से Android App डाउनलोड करे - Download Now

Why Do We Offer Oil To Shanidev :

आम धारणा है की शनिवार को शनिदेव पर तेल चढ़ाने से भक्तो की पीड़ा दूर होती है और शनिदेव प्रसन्न होते है , लेकिन आपको यह जानकर आश्चार्य होगा की शनिदेव को तेल चढ़ाने से उनकी पीड़ा दूर होती है|

इसके पीछे एक पौराणिक कथा छिपी हुई है | हिन्दू पौराणिक कथाओ के अनुसार – एक बार हनुमान जी तपस्या कर रहे थे और तभी वहां शनिदेव पहुँच गए और शनिदेव ने हनुमान जी को युद्ध के लिए ललकारा| परंतु हनुमान जी ने युद्ध के लिए मना कर दिया और कहा की आप मेरी आरधना में विघ्न ना डाले और यहाँ से चले जाये|

लेकिन बार बार कहने पर भी शनिदेव वहां से नहीं गए और हनुमान जी से कहा की – ” मैंने सुना है की तुम बहुत बलवान और शक्तिशाली हो , लेकिन मुझे देखते तुम्हारी ताकत कहाँ चली गयी या तो मुझसे युद्ध करो या फिर मेरे दास बन जाओ”|

ये भी पढ़े... अगर आप धन की कमी से परेशान है या फिर आर्थिक संकट से झूझ रहे है या धन आपके हाथ में नहीं रुकता तो एक बार श्री महालक्ष्मी यन्त्र जरूर आजमाएं !

इस पर हनुमान जी को क्रोध आया और उन्होंने शनिदेव को पुंछ में फंसा लिया और घुमा घुमा कर एक पर्वत से दूसरे पर्वत पर दे मारा| इससे शनिदेव का सारा शारीर छलनी हो गया| शरीर पर घावों से त्रस्त शनिदेव ने हनुमान जी से विनती कर छोड़ने को कहा और ये वचन दिया की आज से मैँ आपकी हर बात मानूगा|

शनिदेव की प्राथना सुन हनुमान जी ने उन्हें मुक्त कर दिया और ये वचन लिया की आज से तुम मेरे किसी भक्त को परेशान नहीं करोगे और उनकी रक्षा करोगे| तब से शनिदेव पर तेल चढ़ाया जाता है ताकि उनकी पीड़ा दूर हो और तेल चढ़ाने वाले पर शनिदेव की कृपा हो |

अब आप बिना Internet अपने फ़ोन पर पंचांग, राशिफल, आरती, चालीसा, व्रत कथा, पौराणिक कथाएं और प्रमुख एवं अजीबो गरीब मंदिरो की जानकारी प्राप्त कर सकते है ! Click here to download

आइये जानते है कौन है शनिदेव और कैसे हुआ उनका जन्म !

क्यों किया राम ने हनुमान पर ब्रह्मास्त्र का प्रयोग !