माँ भादवा मंदिर, नीमच – जिसके आँगन में है चमत्कारी कुण्ड !

Maa Bhadwa Neemuch:

माँ भवानी अपने भक्तो को बहुत प्रेम करती है, अपने भक्तो के दुखो को दूर करने के लिए अनेको चमत्कार करती है| ऐसा ही चमत्कार बरसो से माँ भादवा के मंदिर(Maa Bhadwa Neemuch) में वहाँ के लोग देखते आ रहे है. मध्य प्रदेश के नीमच(Neemuch) से लगभग 18 किलोमीटर की दुरी पर माँ भादवा का मंदिर एक विश्वविख्यात धर्मिक स्थल है | यहाँ दूर दूर से कोढ़ी, लंगड़े व रोगी लोग आते है व माता के आशीर्वाद व चमत्कार से निरोगी होकर चले जाते है. बहुत से भक्त माता के मंदिर से रोग मुक्त होकर अपने घर खुशी खुशी गए है | माँ भादवा के मंदिर(Maa Bhadwa Neemuch) में सुन्दर चांदी की सिहासन पर विराजती माँ भादवा की चमत्कारी मूर्ति है और इसी मूर्ति के नीचे माँ दुर्गा के नो रुप विराजित है.

यहाँ केवल माँ भादवा(Maa Bhadwa Neemuch) की मूर्ति की ही चमत्कारी नही वरन माता की ज्योत भी भक्तो के कोतहुल का विषय बना हुआ हैजो कई सालो से अखंडित रूप से जलती आ रही है . कहा जाता है यह ज्योत कभी भी नही बुझी साथ ही माँ का चमत्कार भी नही रुका. यह ज्योति माँ के सामने ही प्रज्वलित होती है और माँता(Maa Bhadwa Neemuch) के चमत्कार के कारण यहां पूरे साल लकवा, कोढ़ और नेत्रहीनता से पीड़ित भक्तों का आना-जाना लगा रहता है.

भादवा माता मंदिर के प्रांगण में एक प्राचीन बावड़ी है जिसमे एक चमत्कारी कुण्ड है तथा इस कुण्ड के विषय में मान्यता है कि भक्तों को रोग मुक्त करने के लिए माता ने यहां जमीन से जल निकाला था. इस बावड़ी पर माता की असीम कृपा है और लोग बताते हैं मंदिर का जल अमृत तुल्य है. यहाँ माँ से मांगी गई मुराद पूरी होने पर भक्त जिन्दा मुर्गी और बकरे छोड़ के जाते है .इसके अलावा यहाँ सोने की आँख ,हाथ आदि भी माँ को चढाये जाते है. एक बात और जानकार आपको हैरानी होगी की यह जब माँ की आरती होती है तो ये जानवर बकरी ,मुर्गी ,कुत्ते माँ की आरती में सम्लित होते है और बड़ी तलीनता से इसे सुनते है| चैत्र, नवरात्री और कार्तिक मॉस में यहाँ बहुत चहल पहल होती है .

अमरनाथ गुफा से जुड़े इन रहस्यों को बहुत कम ही लोग जानते है !