जगन्नाथ मंदिर, कानपुर- ऐसा मंदिर जो 7 दिन पहले ही दे देता है बारिश होने की सुचना !

jagannath temple kanpur, jagannath temple , rainforest temple, hindu mythology, hinduism, jagannath, jagannath mandir, jagannath temple kanpur, Need monsoon info, predicts rain, rain forecast temple, temple, temple predicts rain, visit Jagannath Temple in Kanpur

Jagannath Temple:

भारत अनेक आश्चर्यो से भरा देश है और इन्ही आश्चर्यजनक और चम्तकारो के बीच है ये जगन्नाथ मंदिर ( Jagannath Temple ) ,जो 7 दिन पहले ही बारिश होने की जानकारी दे देता है. बरसात को लेकर अधिकतर किसान यही असमंजस में रहता है कि पता नहीं कब बरसात होगी और हम फसल को लेकर तैयारी करेंगे. उनको यह पता नहीं चल पाता कि कब बरसात होगी कब नहीं ऐसे में मौसम विभाग की सूचना पर ही भरोसा कर अपनी फसल उगाने की तैयारी करता है. कभी कभी मौसम विभाग की भी भविष्यवाणी गलत निकल जाती है और समय से बरसात नहीं आने के कारण या पता नहीं लगने के कारण उनकी फसल को लेकर की गई तयारी धरी की धरी रह जाती है.

ऎसे में उत्तर प्रदेश कानपूर के विकासखंड मुख्यालय के बेहटा गांव में स्थित जगन्नाथ मंदिर ( Jagannath Temple ) के सम्बन्ध में बिलकुल सही जानकारी बताने के कारण वहा के लोगो में चर्चा का विषय बन चूका है| कहा जाता है की बारिश होने के 7 दिन पूर्व इस मंदिर की छत से बारिश की बुँदे टपकने लगती थी और टपकी बुँदे भी उसी आकर की होती है जैसे बारिश होनी होगी. इस मंदिर में भगवान जगन्नाथ( Jagannath Temple ) ,बलदाऊ और बहन सुभद्रा की मूर्तिया रखी गई है और मंदिर की 14 फिट दीवार के बीच भगवान सूर्य तथा पद्मनाभम का मंदिर है | इस मंदिर में पुरात्व विभाग के निगरानी में रथ यात्रा भी निकाली जाती है.

आज तक तमाम सर्वेक्षणों के बावजूद पुरातत्व विभाग इस मंदिर (Jagannath Temple ) के सही निर्माण का पता नही लगा पाये | बस इतना ही पता लग पाया की इस मंदिर का अन्तिम जीर्णोद्धार 11 वी शताब्दी में हुआ था. उसके पहले इस मंदिर का जीर्णोद्धार किसने और कब कराया था यह आज भी एक पहेली बनी हुई है. मंदिर ( Jagannath Temple ) का आकर बौद्ध मठ के जैसा है और इसलिए कहा जाता है की इसका निर्माण अशोक के शासन कल में हुआ पर मंदिर के दीवारो पर मोर और अशोक चक्र के चित्र बने हुए है तो कुछ लोगो का मानना है की यह राजा हर्षवर्धन के शासन कल के दौरान बना हो सकता है.

READ  जब नारद मुनि के कारण श्रीराम ने भक्त हनुमान पर किया ब्रह्मास्त्र का प्रयोग !

जाने आखिर क्या कारण था रावण के भाई कुम्भकर्ण के छः महीने सोने का रहस्य और उससे जुडी कुछ रोचक बाते !

Related Post