जानिए हिन्दू पूजा में क्या महत्त्व है नारियल का!

importance of coconut in puja

importance of coconut in puja

importance of coconut in puja :

हिंदू धार्मिक अनुष्ठानों में प्रयोग की जाने वाली वस्तुएँ का अपना एक विशिष्ट महत्त्व है। चावल, रोली, आम के पत्ते, नारियल इत्यादि सबका प्रतीकात्मक महत्त्व है। आपने ध्यान दिया होगा कि घर कि पूजा में, गृह प्रवेश के दौरान, नई गाड़ी आने पर नारियल को ज़मीन पर मारकर तोड़ा जाता है। तो देखते हैं कि इस क्रिया का हिन्दू धर्म में अर्थ क्या है।

पंडितों का कहना है कि नारियल का तोडना अहंकार के टूटने का प्रतिनिधित्व करता है। नारियल के बाहर का खोल, अहंकार कि तरह कड़क और ठोस होता है जो जब तक तोड़ा न जाए, न किसी गुण को अन्दर आने देता है न ही बाहर जाने देता है। इस अहंकार के टूटने पर मनुष्य को श्वेत गिरी के समान दिव्य ज्ञान और भीतर पानी के रूप में अमृत प्राप्त होता है।

शास्त्रों में एक श्लोक है जिसका हिंदी अनुवाद कुछ इस प्रकार है,
“ हे प्रभु! मेरे सर के बालों को पकड़,
दोनों आँखों से मेरी नज़रों में देख,
एक तेज़ वार में काट
और ये सर अपने कमल चरणों में स्वीकार कर”

संक्षेप में, नारियल हमारे सर का प्रतीक है जिसके आसपास न चाहते हुए भी अहंकार कि भावना आ जाती है।

पूजा के दौरान या किसी भी नेक कार्य से पहले एक नारियल फोड़कर हम इश्वर से इस अहंकार को चूर करने कि प्रार्थना करते हैं ताकि हम विश्व की अच्छाइयाँ देख सके और हमारे ज्ञान में वृद्धि हो सके।

अब आप बिना Internet अपने फ़ोन पर पंचांग, राशिफल, आरती, चालीसा, व्रत कथा, पौराणिक कथाएं और प्रमुख एवं अजीबो गरीब मंदिरो की जानकारी प्राप्त कर सकते है ! Click here to download

आखिर क्यों माना जाता है ॐ को महामंत्र तथा क्या लाभ है इसके उच्चारण के !

आइये जानते है कौन है महादेव और कैसे हुआ महादेव का जन्म !

READ  जानिए क्या महत्व है सोमवती अमावस्या का !

Related Post