यह पूजा की समाग्री :-

गणेश पूजा के समय एक चोक अथवा पाट, मोदक का भोग, धुप बत्ती, इलायची, पंचमेवा, लॉन्ग, लाल कपड़ा, पंचामृत, रोली मोली, लाल चन्दन, गंगाजल जनेऊ, लाल पुष्प, दो सुपारी, चांदी वक्र, नारियल, दूर्वा दुब, कपूर आदि की आवश्यकता होगी.

यह है पूजा विधि :- ganesh chaturthi ki pooja vidhi in hindi

गणेश चतुर्थी के दिन प्रातः जल्दी उठ स्नाना आदि के बाद एक स्वच्छ एवम शुद्ध लाल रंग का कपड़ा धारण कर ले तब पूजा के लिए मंदिर में बैठे. ऐसा इसलिए क्योकि भगवान गणेश जी को लाल रंग बहुत ही अधिक प्रिय है. पूजा के समय मुह की दशा या तो पूर्व की ओर रखे अथवा उत्तर दिशा की ओर रखे.

भगवान गणेश को सर्वप्रथम पंचामृत द्वारा स्नान कराये इसके पश्चात गंगा जल द्वरा स्नान कराये. अब चोक पर लाल कपड़ा बिछा कर भगवान गणेश की प्रतिमा को स्थापित करे.

रिद्धि सिद्धि की दो सुपारी भगवान गणेश के सामने रखे तथा उन्हें चाँदी का वक्र चढाये. इसके बाद गणेश के मस्तक पर लाल चन्दन का तिलक लगाए. अक्षत लगाए तथा जनेऊ एवम मोली उन धारण करवाये. इसके पश्चात उन्हें नारियल अर्पित करे लाल पुष्प अर्पित करे.

उन पर लड्डू एवम पंचमेवा को भोग लगाए. तथा इसके पश्चात धुप दिप आदि करे .