जाने कैसे पहुंचे तिरुपति बालाजी तथा कैसे प्राप्त हो उनके दर्शन !

Tirupati Darshan:

तिरुपति बालाजी ( Tirupati Balaji ) का मंदिर बेंगलूर से लगभग 260 किलो मीटर की दुरी तथा चेन्नई से लगभग 140 किलो मीटर की दुरी स्थित है. तिरुमाला पर्वत ( Tirumala ) पर आप भगवान बालाजी के दर्शन(Tirupati Darshan) प्राप्त कर सकते है जो तिरुपति से सात पहाड़ दूर है. तिरुपति बालाजी के मंदिर ( Tirupati Balaji Mandir ) की यात्रा के लिए हैदराबाद, बेंगलूर, चेन्नई में सड़क एवं रेल व्यवस्था दोनों है.

तिरुपति बालाजी के दर्शन ( Tirupati Darshan ) में कोई बाधा न आये अतः श्रृद्धालु की सुविधा के लिए तिरुमाला तिरुपति देवस्थानम ( TTD Online Booking ) ने इंटरनेट पर ऑनलाइन टिकट की व्यवस्था भी कराई है. यदि आप तिरुपति बालाजी के दर्शन के लिए सड़क का मार्ग चुनते है तो बंगलूर से आप पैकेज टूर चुन सकते है जैसे चन्नई से, वहां से आंध्रप्रदेश टूरिज्म , कर्नाटक टूरिज्म और निजी ट्रेवल्स की सुविधा ले सकते हो.

पढ़े कैसे करे……  narmadeshwar shivling की पूजा?

तिरुपति ( Tirupati ) का जो नजदीक का हवाई अड्डा है वह रेनिगुंटा है जो तिरुपति से 15 किलोमीटर की दुरी पर स्थित है. यदि आप हवाई मार्ग से बालाजी के दर्शन को पहुंचना चाहते हो तो दिल्ली, बेंगलूर, हैदराबाद और चेन्नई से आप तिरुपति के लिए हवाई उड़ान भर सकते है.जानिए lal  kitab ke upay

तिरुपति ( Tirupati ) का रेलवे स्टेशन भी भारत के सभी प्रमुख शहरों से जुडा हुआ है . अगर आप तिरुपति में कुछ दिन रुकना चाहते है तो वहां अनेक होटलों ( Hotel In Tirumala ) के सुविधा भी उपलबध है, आप ऑनलाइन ( Tirupati Online Booking ) अपना कमरा बुक करा सकते है इसके अलावा यहाँ अनेक धर्मशालाएं भी है जहां आप निशुल्क ठहर सकते है.

पंडित जी द्वारा सिद्ध किया हनुमान कवच यहाँ से आर्डर करे

जानिए हनुमान कवच के बारे मे !

बालाजी की यात्रा वैसे तो साल के किसी भी मौसम में की जा सकती है परन्तु फिर भी जनवरी और फरवरी का मौसम यहाँ की यात्रा के लिए उत्तम है. तिरुमाला ( Tirupati Darshan ) में किसी भी ठग का शिकार न बने क्योकि यहाँ मंदिर से संबंधित सभी जानकारी ( Tirumala Information Online ) हिंदी, तमिल, तेलगु और अंग्रेजी में यहाँ के बोर्ड और दीवारों पर लिखी हुई होती है अतः कुछ जानने के लिए किसी का सहारा भी नहीं लेना पड़ता.

जानिए कैसे करे…  shani shanti ?

ऐसे होते है दर्शन (Tirupati Darshan) :-

सबसे पहले कपिल तीर्थ में जाकर वहां स्नान करें इसके पश्चात कपिलेश्वर ( Kapileshwar Temple ) का दर्शन करें. कपिलेश्वर दर्शन हो जाने के बाद वेंकटाचल जाकर वेंकटेश्वर के दर्शन करें , ऊपर के मुख्य मंदिर के दर्शन हो जाने के बाद नीचे तिरुपति ( Tirupati Tirumala Devasthanam ) में आकर गोबिंदराज के दर्शन करें. गोबिंदराज के बाद पद्ध्यमवती के दर्शन की मान्यता है. बालजी के मुख्य रूप से तीन दर्शन(Tirupati Darshan) होते है जिसमे पहला दर्शन प्रभातकाल में होता है जो विश्वरूप कहलाता है.

जानिए Kaal sarp Dosh Nivaran  की पूजा कैसे करे?

दूसरा दर्शन मध्यकाल में तथा तीसरा दर्शन(Tirupati Darshan) संध्याकाल के समय होता है इसके साथ ही उनके अन्य दर्शन भी होते है परन्तु इन तीनो दर्शनों के अलावा अन्य दर्शनों पर कुछ शुल्क निर्धारित किये गये है. शुक्रवार को ही मूर्ति के पुरे दर्शन(Tirupati Darshan) प्रातः अभिषेक के समय कराए जाते है. मूर्ति के विषय में यह मान्यता है की यह स्वयं ही जमीन से प्रकट हुई थी .

बजरंग बली का प्रभावशाली hanuman raksha mantra

बालाजी ( Tirupati Balaji ) को तुलसी पत्र चढ़ता है जो कोई उनके आशीर्वाद के रूप में घर नहीं ले जा सकता इसे तुलसी पत्र मंदिर की प्रतिक्षणा में बने विरज नामक कुंड में डाल दिया जाता है.

रातोरात तरक्की व् परेशानी दूर करने के लिए जानिए हनुमान कवच के चमत्कारी लाभ

पढ़े कैसे करे.. shani dosh nivaran ?

जानिए kale ghode ki naal  के बारे मे !

इस मंदिर में शिवलिंग पर चमत्कारी रूप से खुद ही चढ़ जाते है फूल और बेलपत्र :-