in

इस हनुमान जयन्ती पर आजमाए धन प्राप्ति और सभी कष्टों से मुक्ति के ये बहुत ही सरल व शीघ्र प्रभावशाली उपाय!

hanuman jayanti, how to celebrate hanuman jayanti, how to celebrate hanuman jayanti at home, how to celebrate hanuman jayanti in hindi, why we celebrate hanuman jayanti, hanuman statue, hanuman hindu god, hanuman ji

हिन्दू धर्म ग्रंथो और शास्त्रों के अनुसार हनुमान जयन्ती वर्ष में दो बार बताई गई है, पहली चैत्र मास के शुक्ल पूर्णिमा के दिन तथा दूसरी कार्तिक मास की कृष्ण चतुर्दशी के दिन. वाल्मीकि रामयण में हनुमान जी का जन्म कार्तिक मास की चतुर्दशी को बताया गया है. पुराणों में हनुमान जी के जन्म के संबंध में यह कथा है की अंजना के तपस्या के फलस्वरूप पवन देव ने भगवान शिव के रुद्रावतार हनुमान जी को अंजना के गर्भ में प्रविष्ट करवाया था. हनुमान जी चमत्कारिक सफलता प्रदान करने वाले देवता कहे जाते है इसके साथ ही ये अपने भक्तो द्वारा उनके भक्ति से शीघ्र प्रसन्न हो जाते है.
हनुमान जयन्ती के अवसर पर अपनाए गए टोटको द्वारा हम अपने जीवन के समस्त कष्टों को दूर कर, धन, सुख सम्पति सब कुछ प्राप्त कर सकते है. आइये जानते है इन उपाय के बारे में.

हनुमान जयन्ती पर धन प्राप्ति के टोटके :-
1 . हनुमान जयन्ती के दिन एक दिप ले तथा उसमे शुद्ध कच्चे धानी का सरसो का तेल डाले. तथा अब उसमे एक लौंग डाल ले व इस दिप को जलाकर हनुमान जी की आरती करें. इस टोटके को अपनाने से हनुमान जी की शीघ्र कृपा प्राप्त होती है तथा आपके सभी संकट दूर होते है और धन की प्राप्ति होती है.

2 . आज के दिन एक पीपल के पेड के समीप जाकर वहां एक मिटटी का दिया जलाए. अब उस दिप को पीपल के पेड़ के नीचे जड़ो के पास रख दे तथा वापस घर लोट आये. ध्यान रहे की घर वापस लौटते समय उस दीपक को पीछे की ओर मूड कर ना देखे अन्यथा टोटका विफल हो सकता है. यह टोटका भी धन में वृद्धि करता है तथा आपको धनवान बनता है.

3 . इस दिन यदि आप एक नारियल को लेकर उसमे कामिया सिंदूर, मौली और कुछ अक्षत कर हनुमान की प्रतिमा के समीप चढ़ाकर पूजन करें तो भी धन की प्राप्ति होती है और सभी दरिद्रता व कष्टों से मुक्ति प्राप्त होती है.

hanuman jayanti, how to celebrate hanuman jayanti, how to celebrate hanuman jayanti at home, how to celebrate hanuman jayanti in hindi, why we celebrate hanuman jayanti, hanuman statue, hanuman hindu god, hanuman ji

4 . कई बार हमारे जीवन में ऐसी स्थिति आती है की हमारे सामने धन प्राप्ति के अवसर तो बनते है, परन्तु फिर भी किसी न किसी कारण हम उन्हें प्राप्त नहीं कर पाते . यदि आप के साथ भी कुछ ऐसा ही होता है तो आप हनुमान जयन्ती के दिन गोपी चन्दन की नौ डालिया लेकर उसे केले के वृक्ष में टांग दे. परन्तु चंदन को केले के वृक्ष में टांगने से पूर्व यह ध्यान रखे की चंदन सिर्फ पीले धागे से ही टंगे होने चाहिए. इस टोटके से आपके सभी प्रकार के कार्य पूर्ण होंगे और आपका रुका हुआ धन आपको प्राप्त होगा.

हनुमान जयन्ती पर कुछ अन्य लाभदायक टोटके :-

हनुमान जयन्ती के अवसर पर सुन्दरकाण्ड पाठ, बजरंग बाण, हनुमान अष्टक तथा हनुमान चलीसा की पूजा बहुत ही लाभकारी होती है. क्योकि इस शुभ दिन हनुमान जी की पूजा करने से सभी पापो से मुक्ति प्राप्त होती है और घर में सुख शांति आती है. साथ ही अगर आप रामायण और राम रक्षा स्रोत का पाठ करते है तो आपको शारीरक और मानसिक दोनों ही प्रकार की ऊर्जा व ताकत मिलती है.

इस दिन यदि आप हनुमान जी की पूजा करते समय उन्हें सिंदूर और चमेली का तेल चढ़ाए तो ये उपाय आपके जीवन के साथ आपके परिवार में भी शुभता लाता है.

अगर हनुमान जयन्ती के दिन आप किसी हनुमान मंदिर की छत पर लाल झंडा लटकाते हो तो इस टोटके के प्रभाव से आप अपने जीवन में हर-प्रकार के दुर्घटना से बच सकते है व आपके दुश्मन इस टोटके के प्रभाव से आपको कोई हानि नहीं पहुंचा सकते.

अगर आप किसी मानसीक रोगी की सेवा करते है तो इससे हनुमान जी सदैव आप से प्रसन्न रहेंगे और आपकी हर कार्य में मदद करेंगे. साथ ही ऐसा करने वाले व्यक्ति की हनुमान जी सभी प्रकार की चिंताओं को हरते है और उसे मानसिक शक्ति प्रदान करते है.

हनुमान जी के 8 ऐसे रहस्य जिन्हे जानकर आप हो जायेंगे हैरान

बजरंग बलि की रोचक कथा, जाने श्री कृष्ण संग रची लीला से कैसे तोडा सुदर्शन चक्र, पक्षी राज गरुड़ और स्तयभामा का अभिमान !

जानिये जिंदगी भर अधर्म के मार्ग पर चलते हुए भी आखिर कैसे दुर्योधन को स्वर्ग की प्राप्ति हुई ?

meaning of shivling in hindi, lord shiva, what does a shivling symbolizes, story behind shivling shape, story of formation of shivling, how shivling came into existence, what is shivling actually, shivling meaning and history

क्या आपको को पता है महादेव शिव के प्रतीक शिवलिंग के संबंध में ये अनोखी एवं अद्भुत बाते और इसका प्रकार !