जब विवश होकर अर्जुन को अपने भ्राता युधिष्ठर के वध के लिए ही उठानी पड़ी तलवार, जानिए महाभारत की एक अनसुनी कथा!

When Arjuna Tried Killing Yudhisthira

When Arjuna Tried Killing Yudhisthira
Panditbooking वेबसाइट पर आने के लिए हम आपका आभार प्रकट करते है. हमारा उद्देस्य जन जन तक तकनीकी के माध्यम से हिन्दू धर्म का प्रचार व् प्रसार करना है तथा नयी पीढ़ी को अपनी संस्कृति और धार्मिक ग्रंथो के माध्यम से अवगत करना है . Panditbooking से जुड़ने के लिए नीचे दिए गए लिंक से हमारी मोबाइल ऐप डाउनलोड करे जो दैनिक जीवन के लिए बहुत उपयोगी है. इसमें आप बिना इंटरनेट के आरती, चालीसा, मंत्र, पंचांग और वेद- पुराण की कथाएं पढ़ सकते है.

इस लिंक से Android App डाउनलोड करे - Download Now

When Arjuna Tried Killing Yudhisthira:

करुक्षेत्र में धर्म और अधर्म के बीच लड़े गए महाभारत के युद्ध की कथा भला कौन नही जनता. ऋषि व्यास के द्वारा रचित महाभारत एक विस्तृत ग्रन्थ है जिसमे अनेको कथाये है जो हम बचपन से सुनते और पढ़ते आये है फिर भी अधिकतर लोग महाभारत की कुछ कथाओ से अनजान है. महभारत के एक प्रसंग के अनुसार धनुधारी अर्जुन को अपने ज्येष्ठ भ्राता युधिस्ठर पर एक मजबूरी के कारण विवश होकर हत्यार उठाना पड़ा था. आइये जानते है आखिर क्यों अर्जुन को ऐसा करना पड़ा और इसके क्या परिणाम निकले.

ये भी पढ़े... अगर आप धन की कमी से परेशान है या फिर आर्थिक संकट से झूझ रहे है या धन आपके हाथ में नहीं रुकता तो एक बार श्री महालक्ष्मी यन्त्र जरूर आजमाएं !

पांडवो और कौरवो के मध्य कुरुक्षेत्र में भयंकर युद्ध लड़ा जा रहा था जिसमे अनेको सैनिक पल भर में ही मृत्यु को प्राप्त हो रहे थे. यह युद्ध का 17 वा दिन था तथा गुरु दोर्णाचार्य के बाद कर्ण को कौरवो का सेनापति नियुक्त किया गया था. कर्ण अर्जुन को युद्ध के लिए धुंध रहे थे तभी उनके सामने पांडवो के ज्येष्ठ भ्राता युधिस्ठर आ गए व उन्होंने कर्ण को युद्ध की चुनौती दी. कर्ण के द्वारा युद्ध की चुनौती स्वीकार करते ही दोनों के मध्य भीषण युद्ध शुरू हो गया. धीरे धीरे कर्ण युधिस्ठर पर भारी पड़ने लगे उन्होंने एक के बाद एक उनके समस्त अश्त्रों को बेअसर कर डाला तथा उन्हें बुरी तरह से घायल कर डाला.

आगे पढ़े…..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *