”ब्रह्माण्डपुराण” के अनुसार हनुमान जी के थे पांच सगे भाई, जानिए क्या थे इनका नाम !

हमारे हिन्दू धर्म के अति प्राचीन पुराणो में अनेको ऐसे रहस्य है जिन्हे जानकर हर कोई हैरानी में पड सकता है. भगवान श्री राम के परम भक्त हनुमान जी उनके लिए अपने भाई के समान थे परन्तु पुराणो के अनुसार हनुमान जी के स्वयं के पांच सगे भाई थे.

रामभक्त हनुमान के सुन्दर लीलाओ और कृति का समस्त वर्णन रामचरितमानस और उनके चरित्र पर आधारित अन्य पुस्तको में मिल जाएगी परन्तु उनके जीवन काल के सम्बन्ध में एक बेहद गूढ़ जानकारी ”ब्रह्माण्डपुराण” में मिलती है जिस के बार में बहुत कम ही लोग जानते है.

ब्रह्माण्डपुराण में हनुमान जी के पांच सगे भाइयो को बारे में बताया गया है तथा वे सभी विवाहित बतलाये गए है.इसी पुराण में वानरों के वंशावली के बारे विस्तृत रूप से लिखा गया है जिसमे ही हनुमान जी के भाइयो का जिक्र भी आया है. हनुमान जी अपने सभी भाइयो में ज्येष्ठ बतलाये गए है, हनुमान जी को शामिल करने पर वानरराज केसरी के 6 पुत्र थे.

Related Post