रामायण से जुडी कुछ ऐसी बाते जो शायद ही पहले आप ने कभी सुनी हो !

facts about ramayan

facts about ramayan

Facts about ramayan:

भगवान राम के जीवन काल को लेकर अनेक ग्रन्थ लिखे गए है इनमे दो ग्रन्थ मुख्य माने गए है, पहला ग्रन्थ ”राम चरित मानस” गोस्वामी तुलशीदास द्वारा लिखा गया है तथा ”रामयण” के रचियता वाल्मीकि जी है. परन्तु क्या आप को पता है की इन दोनों ही ग्रंथो में अनेको बाते असमान है आइये जानते की कौनसी ऐसी बाते है जो इन दोनों ग्रंथो में अलग-अलग प्रकार से बताई गयी है तथा रामायण से संबंधित कुछ ऐसी घटना जो शायद ही आप को पता हो.

1. रामचरित मानस में कहा गया है की राजा जनक ने सीता के विवाह के लिए स्वयंवर रचाया था जिसमे अनेको देशो के राजा आये थे. इस स्वयंवर में श्री राम ने शिव धनुष  को उठाया था तथा प्रत्यंचा चढ़ाते समय वह बीच से टूट गया था. परन्तु रामायण में यह बात कहि गयी है की ऋषि विश्वामित्र  अपने दोनों शिष्यों के साथ मिथिला पहुंचे थे तथा विश्वामित्र ने ही राजा जनक से उस शिव धनुष को दिखाने को कहा था जिसे राम ने उठाकर प्रत्यंचा चढ़ाने का प्रयास किया पर वह बीच से टूट गया. क्योकि राजा जनक ने प्रतिज्ञा ली थी की जो भी शिव धनुष को उठाएगा वे उसका विवाह अपनी पुत्री से करा देंगे अतः उन्होंने श्री राम से अपनी पुत्री सीता का विवाह कराया. वाल्मीकि द्वारा रचित रामायण में सीता स्वयंवर का वर्णन ही नही हुआ है.