आखिर क्यों चढ़ाया जाता है भगवान शिव को कच्चा दूध जोर और कृष्ण को माखन !

why do have to pour milk over the Shivling

why do have to pour milk over the Shivling

why do have to pour milk over the Shivling and makhan for krishna :

हिन्दू धर्म  में हमने देखा की देवी देवताओ को प्रसाद या कोई चढ़ावे के रूप वे चीजे दी जाती है जो उन्हें प्रिय होती है जैसे हम बजरंग बली को सिंदूर, नवरात्रों में माँ दुर्गा को लाल चुनरी और भगवान गणेश को मोदक चढ़ाते है. लेकिन क्या आपको पता है की भगवान कृष्ण और शिव दोनों को दूध पसंद है पर दूध की अवस्था अलग-अलग है.

जहाँ भगवान शिव को दूध की प्रथम अवस्था यानि की कच्चा दूध पसंद है वहीं भगवान श्री कृष्ण को दूध की अंतिम अवस्था माखन पसंद है. जिस तरह संसार में हर चीज का कारण होता है उसी प्रकार कथाओ और मान्यताओ का भी एक आधार होता है जिसे अगर सही दिशा में सोचा जाए तो पुराणों मे छुपी कई कहानियों के तथ्य मिलते हैं.

भगवान शिव को कच्चा दूध चढ़ाने के पीछे ये तथ्य है कि भगवान शिव को किसी भी जीव या वस्तु की प्राकृतिक अवस्था प्रिय है. जैसे कच्चा दूध, दूध की प्रथम अवस्था है. इसका मानवीकरण करें तो जिस प्रकार शिशु जन्म लेता है उसे सांसरिक बन्धनों या माया से कुछ लेना-देना नहीं होता यानि वो प्रकृति के सबसे समीप रहता है. इसी तरह बिना किसी मिलावट और नकरात्मक तत्व रहित कच्चा दूध शिव को प्रिय है.इसी प्रकार श्रीकृष्ण को मक्खन प्रिय है  जो कि दूध की अंतिम अवस्था है. जिस प्रकार मनुष्य जन्म के बाद से जीवन के कई पड़ावों से गुजरते हुए, कई अनुभवों को लेकर अपने जीवन की चरम अवस्था तक पहुंचता है. यानि वो अंत में सभी प्रकार की मोह-माया और बंधनों से मुक्त होकर मक्खन या माखन जैसी शुद्ध अवस्था तक पहुंचता है. इसलिए श्रीकृष्ण को संसार में रहते हुए भी उसके मोह में न पड़ने वाले मनुष्य बहुत प्रिय होते है !

अब आप बिना Internet अपने फ़ोन पर पंचांग, राशिफल, आरती, चालीसा, व्रत कथा, पौराणिक कथाएं और प्रमुख एवं अजीबो गरीब मंदिरो की जानकारी प्राप्त कर सकते है ! Click here to download

भगवद गीता की कुछ ज्ञानवर्धक बातें !

कैसे हुआ भगवान शिव की बहन का जन्म और क्यों हुई माँ पार्वती उनसे परेशान !