आखिर क्यों मानी जाती है माँ गंगा श्राद्ध के लिए पवित्र !

आखिर क्यों मानी जाती है माँ गंगा श्राद्ध के लिए पवित्र !

एक बार नारद मुनि ने ऋषि सनकजी से पूछा, आप शास्त्रो के पारदर्शी विद्वान है, मुझे बताये क्षेत्रो में उत्तम क्षेत्र और तीर्थो में उत्तम तीर्थ कौन सा है? तब ऋषि सनकजी नारद को बताते है, गंगा और यमुना का जो संगम है उसी को मह्रिषी लोग शास्त्रो में उत्तम क्षेत्र तथा तीर्थो में उत्तम तीर्थ कहते है. गंगा परम पवित्र नदी है यह भगवान विष्णु के चरणो से प्रकट हुई है. नदियों में श्रेष्ठ गंगा के स्मरण मात्र से ही समस्त क्लेश दूर होते है तथा सम्पूर्ण पापो का नाश होता है. गंगा के जलविन्दु का सेवन मात्र से ही राजा सगर की संतति परम पद को प्राप्त हुई.

Prev post1 of 9

Related Post